मन का त्योहार

जीवन की आपा-धापी  में

कोई मन का भी त्योहार मने

 

नए सपनों के रंग-रोगन हों

नयी उम्मीद कि सजावट सजे

मन के किसी कोने में

एक प्रेम का दीप जले

आत्मा जिससे रोशन हो

दुःख का अँधेरा मिटे

जीवन की आपा-धापी में

कोई मन का भी त्योहार मने

Advertisements

Aapki Pratikriyaein

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s