वो सुबह

जब अनगिनित बार
बजकर थककर
फ़ोन की घंटी
बंद हुई

तो जाना
कैसी होगी
वो सुबह
जब मुझे मालूम होगा

इस नंबर पर
अब कोई नहीं है

फिर भी
आदतन में डायल करुँगी
आपका नंबर

और उम्मीद करुँगी
पापा की आप
सुन रहे होंगे !

Advertisements